Bhulekh Khasra Khatauni कैसे देखे | भुलेख खसरा खतौनी मोबाइल पर देखें | ~ Sikho Tech

Bhulekh Khasra Khatauni कैसे देखे | भुलेख खसरा खतौनी मोबाइल पर देखें |

Bhulekh Khasra Khatauni कैसे देखे | भुलेख खसरा खतौनी मोबइल पर देखे |

भुलेख-खसरा-खतौनी-मोबाइल-पर-देखें
Up bhulekh 

हम सभी एक पास थोड़ी बहुत जमीन होती है जिसके कागजात कई बार बहुत पुराने या दादा के ज़माने के होते है. जिसके बारे में पूर्ण जानकारी हमारे पास नहीं होती है. इसके लिए आप अपनी जमीन को ऑनलाइन देख सकते है की वह इस समय किसके नाम और जमीन का क्या नं है. ये सुविधा के लिए पहले आपको एरिया लेखपाल के पास जाना होता था जिसके लिए आपका टाइम और आपके पैसे खर्च होते थे लेकिन अब आप ये कागजात घर बैठे अपने मोबाइल या लैपटॉप या कंप्यूटर पर निकाल सकते है. इसके लिए आपके पास इन्टरनेट कनेक्टी होना आवश्यक है. ये कागजात हर मान्य भी है. इस पोस्ट में इसी के बारे में विस्तार से बताया गया है. 

क्या है भुलेख

देश के विभिन्न प्रदेशों द्वारा Bhulekh का डेटा online कर दिया गया है. Bhulekh एक तरह का डिजिटल डाटा है जिसको आपने बैनामे और फर्द से जोड़ कर तैयार् किया गया है. इसमें समस्त ग्रामीण या शहरी जमीन का डिजिटली डाटा के स्वरुप में रखा गया है. Bhulekh द्वारा निकाले दस्तावेज से आप अपनी जमीन या जगह पर बैंक से लोन भी ले सकते है. इस दस्तावेज से माध्यम से ही आप के गन्ने की किसी अन्य फसल की अनुमनानित पैदावार के बारें में सरकार को पता चलेगा. सरकार के कर्मचारी समय समय पर आपकी जमीन या खेत की फर्द मांगते रहते है. अगर आप इसको खुद निकल लेगे तो आपकी ये फर्द हर जगह या हर ऑफिस में मान्य होगी. इस फर्द को आप लेखपाल से निकालबते है तो वह आपसे अलग से पैसे या सुबिधा की माग करता है. सरकार की इस समस्या के समाधान के लिए सभी जमीन का ऑनलाइन डाटा तैयार करा दिया है. आगे अभी और डाटा ऑनलाइन होने की संभाना है. भुलेख की वेबसाइट सरकार की वेबसाइट है इसमें किसी प्रकार का कोई फर्जी या फेक फर्द नहीं निकल सकती है. इस लेख से आप आपनी जगह की फर्द निकाल सकते है. जो एक डिजिटल फॉर्मेट में होगी इसको आप PDF या Image में Save कर के भी रख सकते है.

कैसे निकाले फर्द

फर्द को निकालने के लिए आपको अपने मोबाइल या लैपटॉप या कंप्यूटर में Google खोलना होगा. आप इसे किसी भी ब्राउज़र के खोल सकते है. लेकिन कोशिश करे की chrome, या Expoler में ही खोले. ब्राउज़र को ओपन करने के बाद आपको इसमें सर्च बार में टाइप करना होगा या आप गूगल में बोल के भी टाइप कर सकते है. http://upbhulekh.gov.in/public/public_ror/public_ror_report.jsp या इस  यहाँ click करे. Click करने के बाद वेबसाइट कुछ नीले कलर में आपके ब्राउज़र में खुल जाएगी. जिसमे आपको कुछ तीन सर्च बॉक्स दिखेंगे जिसमे अलग अलग आपको टाइप करना होगा.

इसके बाद Bhulekh की साईट खुल जाएगी. जिसमे आपको अब अपना जिला select करना होगा.


जिला select करने के बाद आपको इसमें आगे अपनी तहसील Select करनी होगी

इसके बाद आपको अपना गावं सेलेक्ट करना होगा गावं सेलेक्ट करने के किये right साईट में आने वाले हिंदी अक्षरों से अपने गावं का पहला अक्षर सेलेक्ट करें.

इसके आपको तीन बॉक्स दिखेगें. जिसमे :- 

        1.   खसरा / गाटा संख्या द्वारा खोजें
        2.   खाता संख्या द्वारा खोजें
        3.   खातेदार के नाम द्वारा खोजें

आपको इनमे से किसी एक को सेलेक्ट करके डिटेल देती है.


आप खसरा खतौनी के लिए यह Video देख सकते है.


      अगर आप बॉक्स 1 (खसरा / गाटा संख्या द्वारा खोजें) देखना चाहते है तो इसके लिए आपके पास अपनी जगह का नं होना आवश्यक है.

      अगर आप बॉक्स 2 (खाता संख्या द्वारा खोजें) देखना चाहते है तो इसके लिए आपके पास जिसके नाम जगह है उसका खाता संख्या होना आवश्यक है.

     अगर आप बॉक्स 3 (खातेदार के नाम द्वारा खोजें) देखना चाहते है तो आप जिसके नाम से खोजना चाहते है. उस व्यक्ति का नाम हिंदी में टाइप करें जिसके बाद उस नाम के जितने लोग उस गावं में होगे सभी खुल जायेगे आपको व्यक्ति के पिता के ठीक नाम के साथ देखना है..

जब फर्द खुल जाएगी तो इसमें उस जमीन के खसरा नं के साथ सभी खातेदारों के नाम आयेगे. अब इसमें आपको देखना है की दिये गये खसरा सख्या में आपकी जगह कितनी और कहाँ पर नाम है. क्यों कि इसमें पुरे खेत या पुरे प्लाट का नं के साथ दिया गया होता है 

If u want to donate Sikho Tech Paltform Click Here                        ►►Click Here►►
यदि आप Sikho Tech की आर्थिक मदद करना चाहते है तो क्लिक करे.  ►►Click Here►► 


कैफ़े से कैसे निकलबाये

आप खतौनी को जन सुविधा केंद्र से भी निकलबा सकते है, यहाँ पर आपको खुद जाना होगा और अपनी खेत का खसरा नं देना होगा, अगर आपके पास खसरा नं नहीं है तो आप गाटा संख्या से भी निकलबा सकते है, अगर आपके पास वह भी नहीं है तो आप फर्द को नाम तथा पिता के नाम के भी निकलबा सकते है.

खतौनी को पढ़े कैसे

खतौनी की निकाल लेने के बाद इसको पड़ना सबसे मुश्किल काम है क्यों कि इसमें दिया गया डाटा सबकी समझ में नहीं आता है. इसके लिए कुछ बाते आपको बता देते है यहाँ पर आपके लिए...
पहली Row में : - खतौनी में सबसे उपरी साइड में ग्राम का नाम, परगना, तहसील. जनपद, फसली वर्ष, भाग के साथ खेत का खाता नं दिया गया है.
Column 1 में :- इसमें खेत या जमीन के मालिको के नाम उनके पिता के साथ  दिये गये है जिनके नाम सर्व प्रथम जमीन दर्ज हुई है. आप ने अगर जमीन खरीदी है तो यहाँ पर आपका नाम नहीं होगा. यहाँ पर नाम के साथ पता भी दिया गया है.


bhulekh-khasra-khatauni-kaise-dekhe

Column 2 में :- इस column के सबसे जरुरी डाटा दिया गया होता है. इसमें आपके खेत या जमीन का खसरा नं दिया गया है. जिसको जमीन या खेत का नं भी कहा जाता है. इससे से आपके प्लाट या खेत की सही लोकेशन का पता चलता है.

Column 3 में :- इसमें आपकी जमीन का क्षेत्रफल दिया है. यह क्षेत्रफल गाटा संख्या या खसरा नं का कुल क्षेत्रफल दिया है. प्रत्येक खसरा नं के सामने उसका क्षेत्रफल दिया गया है जिसको आप आसानी से पढ़ सकते है. ये क्षेत्रफल हेक्टेयर में दिया है. आपने अगर जमीन खरीदी या बेचीं है तो आपका नाम और हिस्सा Column 4 में दिया गया होगा. जिसके बारे में अगले कॉलम में विस्तार से बताया गया है कि आपका नाम कहाँ पर होगा.
Column 4 में :- इसमें आपकी जमीन का कितना हिस्सा आपका है इस की डिटेल दी गयी है. इसको पढ़ना नए व्यक्ति के लिए सबसे मुश्किल काम है. इसमें प्रत्येक खातेदार के नाम में कोई संशोधन हुआ है तो दर्ज होगा. जैसे आपने अपना हिस्सा बेच दिया या किसी से और भाग इस खेत नं का खरीद लिया तो वह क्रमांक में सबसे नीचे दिनांक के साथ गाटा संख्या जमीन का भाग हेक्टेयर में व क्रेता और विक्रेता के नाम दिये गये है. इसको देख कर ही आपको अपना हिस्सा पता चलेगा की आपका कौन सा भाग जमीन का है.
सबसे नीचे योग दिया गया होता है कि अगर एक ही फर्द में कोई  खेत नं है तो उनका क्षेत्रफल कुल मिला के कितना है.
bhulekh-khasra-khatauni-kaise-dekhe-up-hindi

             इस तरह से आप अपनी फर्द को ठीक तरह से पढ़ सकते है. अगर आपको फिर भी ना समझ में आये तो हमे कमेंट में लिखें.    

जन सुविधा केंद्र

सरकार के द्वारा संचालित जन सुविधा केंद्र को फ्रंचायेजी के माध्यम से चलती है. केंद्र पर तमाम ऑनलाइन सरकारी सुविधा प्रधान की जाती है. इस के आपको कुछ निर्धारित फीस देनी पड़ेगी. फीस अलग अलग प्रकार के ऑनलाइन पोर्टल की अलग अलग है. खतौनी की फीस जायदातर रु20 निर्धरित है. लेकिन जन सुविधा केंद्र पर कोई from या ऑनलाइन डाटा ले तो उस पर जन सुविधा केंद्र की stamp मुहर होना आवश्यक है. अन्यथा वह प्रिंट आउट मान्य नहीं होगा. जन सुविधा केन्द्रों पर हर प्रकार के सरकारी काम काज की सुविधा दी जाती है. जन सुविधा केंद्र दो प्रकार के है. एक भारत सरकार यानि केंद्र सरकार के माध्यम से चल रहे है तो दुसरे राज्य सरकार के माध्यम से चल रहे है. दोनों केंद्र पर सूचनाये सामान ही है. सरकार की डिजिटल india मुहीम के लिए इन केन्द्रों को खोला गया है.

कहाँ कहाँ मान्य

इन्टरनेट से निकली खतौनी वैसे तो सब जगह मान्य हती है. लेकिन अगर आपको सरकारी काम में लगानी है या आपको कोई लोन लेना है तो ये लेखपाल या जन सुविधा केंद्र की मान्य होती है. लोन के लिए आपको हो सकता है कि लेखपाल की ही फर्द मान्य हो वह इस पर अपने हस्ताक्षर करके देते है कि ये जगह कहाँ पर है और आपके द्वारा दी गयी जानकारी तहसील में दर्ज जानकारी से मिल रही है कोई फर्जीवाड़ा नहीं है. लोन के लिए आपकी जितनी भी जमीन है सभी कि फर्द आपको जमा करनी पड़ती है. मतलब आपके नाम जितनी भी जमीन है और आपको चाहे कम पर लोन लेना चाहते है तो आपको सारी जमीन या सारी खतौनी देनी पड़ेगी. 

क्या ना करें

आप इस इस वेबसाइट को लो इन्टरनेट स्पीड में का खोले क्यों कि अगर इन्टरनेट की स्पीड कम होगी तो ये वेबसाइट अच्छे से काम नहीं करती है. जिससे आप परेशांन होगे और आपका डाटा भी ठीक से नहीं निकल पायेगा. इस वेबसाइट में गावं का नाम ठीक से सेलेक्ट करे. जिस व्यक्ति की खतौनी नाम से निकालनी है तो नाम को ठीक से देखे ले क्यों कि कई बार नाम में किसी मात्रा के कारण भी डाटा उपलव्ध नहीं है दिखा देता है. जिस किसी की फर्द देख रहे है हो सके तो खेत के नं से फर्द को निकाले इससे आपका समय और पैसा दोनों बचेगा.

                         मुझे पूर्ण आशा है कि यहाँ bhulekh से सम्बन्धित दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट होगे और आपको समझ से आ गया होगा कि आपको अपनी जमीन या जगह की फर्द या खतौनी कैसे निकली है. आप इस जानकारी को whatsaap, twitter या Facebook पर अपने दोस्तों या रिश्तेदारों के साथ share करें. जिससे हामरे बीच जागरूकता पैदा हो और जानकारी का अधिक से अधिक लोगो को फायदा हो.


Previous
Next Post »