VISA क्या होता है ? कितने प्रकार का होता है। कैसे करे अप्लाई। Type of Visa ~ Sikho Tech

VISA क्या होता है ? कितने प्रकार का होता है। कैसे करे अप्लाई। Type of Visa


VISA-Type-of-Visa-Apply-Visa-sikhotech

किसी भी दूसरे देश से आने वाले व्यक्ति के लिए  VISA एक तरह से परमिशन लेटर होता है जो कि आपको ये परमिट देता है कि आप उस देश में रह सकते है। लेकिन ये आपके VISA पर निर्भर करता है कि आप कितने दिन और किस कार्य के लिए रुक सकते है। VISA के बहुत सारे टाइप होते है, ये सभी आप किस कार्य के लिए जा रहे है उस पर निर्भर रहते है। वैसे VISA की फुल फॉर्म
V – Visitors                    I – International            S – Stay      A – Admission
अगर आप किसी दूसरे देश में जाते है तो आपको VISA की जरुरत पड़ेगी लेकिन कुछ देश ऐसे भी है जहाँ आप बिना VISA के भी जा सकते है। भारत के नागरिकों के लिए भूटान और नेपाल में बिना VISA के -जा सकते है। लेकिन इन देशो को छोड़ कर आपको किसी अन्य देश में जाने के लिए पासपोर्ट के साथ VISA की जरुरत पड़ती है। आपके पास जितने देश का VISA है आप उतने उस  देश में रुक सकते है। जब आप किसी देश के VISA के लिए अप्लाई करते है तो उसके साथ रिटर्न टिकिट भी  लगानी पड़ती है  जिससे आप तय समय पर वापिस सके। ECR और Non-ECR कैटेगरी के पासपोर्ट में क्या अंतर होता है ?  जानिए ।


VISA कितने प्रकार का होता है
• Transit Visa
• Tourist Visa
• Student Visa
• Business Visa
• Working Visa
• On Arrival Visa
• Partner Visa
• Diplomatic Visa
• Journalist Visa
• Marriage Visa
• Medical Visa
• Immigrant Visa

Transit Visa - ट्रांजिट VISA का मतलब होता  कुछ घंटो के VISA जो किसी देश में कुछ घंटे के लिए आना या रुकना चाहते है तो उन्हें ये VISA दिया जाता है। ये VISA केवल 72 घंटे के लिए मान्य होता है। जैसे आप किसी देश में जा रहे है और आपकी फिलाइट कुछ समय के लिए रुक सकती है तो आप वहां का ट्रांजिट VISA ले सकते है और उसके बाद आप उस देश में 72 तक रुक सकते है। इस VISA के लिए आपको कन्फर्म रिटर्न टिकिट भी दिखानी पड़ती है।


Tourist Visa - जैसा कि ये नाम से ही समझ में रहा है कि घूमने का VISA है। ये VISA आपको देश में घूमने जाने के लिए दिया जाता है। इस VISA पर आप केवल घूमने के आलावा अन्य कोई भी कार्य नहीं कर सकते है। इस VISA के लिए आपको रिटर्न टिकिट, होटल बुकिंग, घूमने की जगह के नाम देने होते है। ECR और Non-ECR कैटेगरी के पासपोर्ट में क्या अंतर होता है ?  जानिए ।

Student Visa - ये VISA छात्रों को उनकी पढ़ाई के लिए जारी किया जाता है। इस VISA के लिए केवल स्टूडेंट ही अप्लाई कर सकते है। इस VISA के लिए आपको उस देश के किसी इंस्टिट्यूट या यूनिवर्सिटी में पहले एडमिशन के लिए अप्लाई करना होता है जब वहाँ आपका एडमिशन कन्फर्म हो जाता है तब आप इस VISA के लिए अप्लाई कर सकते है।

Business Visa - ये VISA उन लोगो के लिए दिया जाता है जो उस देश में व्यापार करना चाहते है। इस VISA के लिए आपको अपना बिजनेस प्रोपोजल लेटर देना पड़ता है। इसके साथ में आपको अपने बिजनेस का स्थान और उस पर होने वाले खर्च का विवरण देना होता है। ये भी बताना होता है कि आप ये पैसा बिजनेस के लिए कहाँ से लाएंगे।  ये VISA आपको 6 माह से 10 साल तक का दिया जाता है।

On Arrival Visa - इस VISA के लिए आपके पास पहले से VISA होना जरुरी होता है। इस VISA को अप्लाई करने का मतलब होता है कि आप अपनी यात्रा के दौरान अपने VISA का समय बढ़वाना चाहते है तो आपको  On Arrival Visa दिया जाता है। भारत सरकार ने हाल ही में इस VISA में कई बदलाव किये है। अब NRI इस VISA को विदेश में बैठे ही अप्लाई कर सकते है।  पहले इसके लिए उन्हें भारत कर अप्लाई करना होता था। इसे अब e tourist VISA के नाम से भी जाना जाता है।    
Marriage Visa - यह VISA एक निश्चित समय के लिए दिया जाता है। जैसा कि नाम से स्पष्ट है कि ये VISA शादी के लिए है। जैसे कोई भारतीय किसी दूसरे देश की  लड़की से शादी करना चाहता है तो वह उस लड़की को शादी के लिए भारत बुला सकता है। इसके लिए उस लड़की को अपने नाम से मैरिज VISA के लिए उस देश में भारतीय एम्बेसी में जा कर VISA के लिए अप्लाई करना होगा। 

Medical Visa - ये VISA आपको कोई अगर वीमारी है और आप उसका इलाज उस देश में करना चाहते है तो ये वीजा आपको दिया जाता है। मेडिकल VISA में कुछ शर्ते दी गयी होती है जिसका आपको पालन करना होता है। मेडिकल VISA के  लिए आपको किसी के साथ में अप्लाई करना  है।

Immigrant Visa - ये VISA आपको जब दिया जाता है जब आप किसी देश में बसना चाहते है।  इस वीजा के लिए केवल जाने की टिकिट लगनी पड़ती है। ये VISA मिलना इतना आसान नहीं होता  है। इस VISA के लिए आपको किसी अपने का रिफ़्रेन्स देना पड़ सकता है। 

VISA अप्लाई करने से पहले जरुरी बाते ध्यान में रखनी चाहिए वार्ना VISA रिजेक्ट जो सकता है
  1. एप्लीकेशन में कोई भी गलत जानकारी  नहीं दी गयी हो।
  2. आपका कोई भी क्रिमिनल रिकॉर्ड हो ना ही कोई केस पेंडिंग हो। 
  3. आपसे देश की सुरक्षा को कोई खतरा हो।
  4. आपका चरित्र अच्छा हो। 
  5. आप जिस देश में वासना चाहते है वहां वर्क वीजा अप्लाई किया हो।
  6. वीजा के लिए आपके पास यात्रा की कोई बैध वजह हो।
  7. जिस देश में जाना चाहते है वहाँ रहने का इंतजाम पहले से हो।
  8. अगर आपकी इससे पहले एप्लीकेशन रिजेक्ट हुई हो तो रिजेक्ट की वजह दुबारा अप्लाई करने से पहले दूर कर दिया गया हो।  
  9. आप जिस देश जाना चाहते है उस देश के सम्बन्ध आपके देश से अच्छे हो।
  10. आपको कोई भी रोग नहीं होना चाहिए।
  11. आपका पासपोर्ट जल्द एक्सपायर हो।
  12. पहले जारी किया गया वीजा बिना वजह रिजेक्ट किया गया हो.
VISA कैसे करे अप्लाई

VISA अप्लाई करने के लिए कई देशो में स्पांसर की जरुरत पड़ती है।  इसके लिए आप अपने पहले से रह रहे किसी रिस्तेदार या किसी अन्य को स्पांसर कर सकते है। अगर आप टूरिस्ट वीजा अप्लाई करते है तो इसके लिए कई टूरिस्ट कंपनी आपको अपनी स्पोंसरशिप दे सकती है। आप उनकी वेबसाइट पर जा कर अप्लाई कर सकते है।


ये भी पढ़े -
Newest
Previous
Next Post »